ip address location kya hai

 क्या आप जानते है की ip address क्या है और  ip address location क्या लाभ और क्या हानि है अगर आप जानना चाहते है| 

ip address location kya hai


तो आप इस post को ant तक पढ़ते रहे आपको इन सवालो की जवाब आपको इस post मिल जायेगा| ip address को internet protocol address के नाम से जानते है और इसके server ip address,ip number के नाम भी जाने जाता है|


 ip address एक ऐसा लिंक होता है जिससे आपके device इंटरनेट से conect होता है यानि की आपके device दूसरे dwvice से communicate कर पता है तो आप इसके नाम से जानगए होंगे की इसका क्या काम है दर असल बिन ip address के आपके device से internet connect नहीं हो पायेगा |


अगर आपको  ip address location के बारे में पता नहीं है तो आपको घबराने की कोई जरूरत नहीं हैअसल में मैं बात करू तो आपके जैसे बहुत से लोग है computer के use करते ह उनको ये पता नहीं है ipv4 address क्या है वैसे तो इसमें आपको कोई बुराई नहीं है भले ही क्यों न आपके system से connect होने में इसका बड़ा योगदान है ip address to location के और इसको internet password भी कहा जाता है|

Ip address location क्या है Ip location कैसे पता करते है


वैसे मैं कहु की simple user को इसके बारे में जानने से कोई लाभ नहीं है अगर वही पर smart 
user के बारे में बात करू तो my ip address location के बारे में  उनको पता होना जरुरी है 
क्योकि technology के बारे में जानने के बहुत आवस्यक है.अगर आप इसके बारे में थोड़ा सा भी knowledge नहीं रखते है और आप internet पर आप advance use करते है तो आप कही-
ना-कही आप फंस सकते हो. 


क्योकि ip address के जरिये आपके शेयर information उसके पस्चाला जायेगा 
तो मैं एक blogger होने के नाते सोचा की क्यों न इसके बारे में मैं आपने redear को 
बताऊ ip address क्या है और इसका क्या काम होता है तो मैं आपको इसके बारे में पूरी 
जानकारी प्रदान करूंगा ताकि आपको पता चल जाये की technology कैसे अपने हिसाब से 
काम करती है किसी भी device को internet के साथ connect करने में तो आइये इसके 
बारे पूरी जानकारी बताते है|  ip address location क्या है|

ip address को internet से connnect करने में बहुत बड़ा योगदान है Ip address के 
full from होता है internet protocol address  यही एक 192.168 1 number की 
तरह होता है यही आपके ip address होने से किसी भी device को allow करता है दूसरे 
device के साथ communicate करने के लिए एक Ip Based network की जैसे ip 
address होते है|

हम ip address को ip भी कह सकते है इसमें आपको कोई problems होगी ip address 
यह एक uniqa address होता है जिससे एक device को indify करने के लिए मैं आपको 
simple भासा में कहु तो यह आपके system के एक local network होता है और ये 
network आपके system को allow करता है किसी दूसरे system द्वार connect 
करने के लिए और जो system connect होते ही via internet protocol अपने काम 
करने लगते है.


वैसे मैं बात करू तो ip address के दो format होते है और इन दोनों के काम अलग अलग 
होते है| 
1.Ipv4
2.Ipv6 

Mobile Se Virus Kaise Nikale

Ip address के use कैसे किया जाता है 


एक ip address network device को indify प्रदान करता है  जैसे की आप मन लीजिये 
की आप अपने घर को पहचाने के लिए कुछ पहचन दिए होंगे तो ठीक उसी तरह से यह ip 
location होता है indetifield address के साथ ठीक उसी तरह एक network को  अलग 
अलग device किया जाता है दूसरे Ip address के माधयम से  |

Mobile Call Hack Kaise Kare
मैं आपको एक example दे कर समझा रहा हु मानलिए अभी दिल्ली में हु और मुझे अपने 
familly के पास कुछ पार्सल भेजना है तो मुझे अपने घर के local ip जानकारी है तो मैं 
आपने पुरे परिवार के नाम से नहीं भेजूंगा उसके लिए मुझे अपने घर के किसी भी सदस्य 
के नाम और उसके बड़े जानकारी लिखूंगा तो ही हमरे पार्सल सही सदस्य के पास जायेगा 
और आप एड्रेस देखने के लिए आप अपने mobile phone को भी use कर सकते है.
  
अगर आपके internet से कोई date को भेजते है तो वही पर आपको एक process करने 
लगता है तो वही आपके mobile book के बदले में आपके computer या laptop के server 
ip address का उपजोग किया जाता है| तो वही पर आपके hostname  को  lookup करने के 
लिए आपके ip address पाए जाते है.

उदाहरण के लिए मैं आपको बताते की जैसे कि आप किसी भी browser में website के url 
enter करते है जैसे की www.superfastblog.com सर्च करते है तो वे browser तब एक 
requat भेजती है की इस page को load करने के लिए dns server को.जिससे वे  find ip address आपके (superfastblog) को reasearch करने के लिए तो उसके accresponding  
ip address के पाने के लिए और वे बिना किसी ip address attach किये बिना computer 
user को चलना थोड़ा से भी सोच नहीं सकते है|तो आइये इसके बारे में जानते है की user किस 
चीज़ को internet पर खोज रहे और वे खोज नहीं पते है इसका क्या करना है 
.

Ip address कितने प्रकार के होता है?

अगर आप ip address के बारे में नहीं जानते है की ip address कितने type के होते है तो 
आपको परेशान होने की कोई जरूरत नहीं है.नहीं तो आप इसके बारे में पहल से ही ip address 
के बारे में जानते है तो आपको मालूम होगा की ip एड्रेस कितने type के होते है |ip address 
एक number की तरह हो है जैसे की 192.168 1 वही ये google ip address एक सामान 
होते है और ये hide ip किया गया है.
तो आइये जानते है की ip address के कितने type होता है.
 public ip address
 pravite ip address
 static ip
 Dynmic ip address 

तो आप जान चुके होने की ip address की कितने प्रकार होते होते है और मैं आपको ये बता 
दू की यही पर ये ख़त्म नहीं होता है इसके दो-दो प्रकार भी होते है पहले ipv4 address और 
दूसरे ipv6 address  होते है|


public ip address 


इस address के use outside नेटवर्क के लिए किया जाट है जिसे ये Ips के जरिये इसको 
assign किया गे है ये ip address एक main address होते है जिसे अपने bussiness 
या home के लिए इसके इस्तेमाल किया जाता है और ये पूरी दुनिया भर के internet के साथ communicate device से करता है जो यह एक internet है मैं आपको easy में बताऊ की 
ये एक प्रकार के रास्ता प्रदान करता है  IPs तक पहुंचने में ये दुनिया भर के website या किसी 
दूसरे device के साथ direct communicate कर सकते है आप पाने prosonal computer 
या laptop से.


private IP address


इस address के use inside नेटवर्क के लिए किया जाता  है और ये network सिर्फ आप अपने 
घर के लिए किया जाता है.इस प्रकार के address को उपयोग आपके device router ip और दूसरे device से communicate करने के लिए किया जाता है और यह एक private network है जिसे आप ही इसको use कर सकते है और आप इस private network को manually set भी कर 
सकते है.और ये नेटवर्क automatically assign किया जाता है.

   public ip address और private ip address ये दोनों या Dynamic IP address हो 
सकते है या फिर static ip भी हो सकते है है.   



static ip


अगर आप device में Dhcp को आप enble नहीं किये है तो आपके ये support नहीं करेगा 
तो आप इसको enble कर lijiye  और आप ip address को manualy asigned किया 
ja sakta है  इस case ip address को static ip भी कहा जाता है|

अलग अलग oprating system को खोजने के लिए एक uniqa step की जरूरत होती है 
ip address खोजने के लिए वैसे तो private ip address और public ip address  
अलग अलग स्टेप होते है खोजने के लिए                                          

Dynamic ip address

ये एक बेस्ट ip addsress है जिसे asign किया जाता है एक Dhcp server के द्वारा जिसे हम  Dynamic ip address कहते है.  


public ip address 



किसी के ip address खीजना बहुत ही आसान है ip address खोजने के लिए आपको whatismyipaddress.com के इतेमाल कर सकते है ये site सभी network device के
 साथ काम करती है ये सभी browser में support करती है जैसे की smartphone,ipad,laptop,computer यदि में काम करती है| आप इसे साइट से 
किसी को भी ip address को दाल कर पता कर सकते है,ये बहुत अच्छी साइट है.


private ip address 


simple भाषा में कहु तो private ip address को पता करना इतना आसान नहीं होता है,
और इतना  कठिन  भी नहीं है अगर कोई थान  ले की आपके ip address tracker करना
 है तो आसानी  से track कर सकता है |  

windows में ip address को पता करने के लिए आपको एक comman prompt होता है 
जिसे आप ipconfing command के use करके आप अपने ip address को पता कर सकते है.

linux user ip address पता काने के लिए उसको एक terminal windows के lunch करना
 होता है और उसको enter कारना पड़ता है command type काने के लिए hostname-I 
जिसमे copital "i"   का इस्तेमाल किया जाता है ipconfing या ip पता करने के लिए |

macoS   में ip को पता करने के लिए आपके ipconfing command से आप local 
address को पता कर सकते है |

iphone,ipad,और आप i touch के device के private ip address पता कर सकते है 
wifi menu में setting के द्वारा पता कर सकते इसमें देखने के लिए आपको type करना है "i" button जो की उससे आपके network connect हो और उसके next में होता है वे button.

android device 
में ip address को पता करने के लिए आपको बातये हुए step को follow करे Setting-Wifi को पालन करना होता है अगर आप उस network के ऊपर आपको tap करना होता है जैसे ही आप tap करते है तो आपको सरे information आपको internet पर देखे देगा जिससे आपके private ip address कहते है.

Ip address के तो version होते है 
ip address के दो version होते है चलिए जानते है की कौन कौन दो version होते है|
Ipv4 
Ipv6 

Ipv4 ये पुराने version है और वही पर Ipv6 upgrad version है  क्या आप जानते है की 
ipv6 क्यों लाया गया अगर आप नहीं जाते है तो आप बताता हु की क्यों लाया गया ipv4 के स्थान 
पे वे ipv6 नंबर जयादा प्रदान करता है ipv4 की तुलना में ipv6 की device की तादात बहुत  
जयादा है और वे ip constally  को ही connect करते है तो वैसे में unique address 
avaible होने की बहुत जरुरी होती है |

अगर हमे ipv6 address की बात करे तो केवल 5 बिलियन unique ip address  प्रदान 
करती है मैं भले ही मन की ये ip जयादा नंबर की होती है लेकिन ये आज के टाइम में smart 
wolrd के लिए काफी नहीं है |

क्योकि हर user के पास अलग अलग device है जो की internet के लिए use किया जाता है |

अगर हम सोचे की दुनिया भर में 8 बिलियन लोग मौजूद है और प्रतेयक लोग एक device को
 use कर रहे है तो ipv4 सभी user को ip प्रदान करने में success नहीं हो पाएंगे |

वही पर दूसरे ipv6 address support करता है करीब करीब 350 trillion trillian address (2128) के ये होता है जो की होते है  350 और उनके साथ zeroes  इससे ये होता है की पृथ्वी पर मौजजूद इंसान इस को आसानी से use कर सकते है अलग अलग device connect करने के लिए और इससे आपको कोई problems नहीं होगा |

ज्यादा ip address को supply करने के लिए ipv6 को बहुत benefit होती है जैसे की मैं आपको नीच बताता हु |

efficient routing privod करती है 

और साथ में easier administration भी proved करती है 

और ये built in privacy proved करती है 

पर जहा पर ipv4 को show किया जाता है वह पर आपको  ip address 32 bit numerical  number जो की ये एक decimal format में होती है जैसे की 192.168 1 में होती है जो की ipv6 की ip address में trillion की तादात में address की show करने पर आपको hanxadecimal format में display की जाती है जैसे की 2001:0db8:0000:0000:0000
:8a2e:0370:7334 में होती है         

finlly,
I hope की आपको ये मेरी पोस्ट  ip address क्या है आपको जरूर पसंद आये होगा और मेरी यही हमेश कोशिस रहेगी की अपने reader को अच्छे से अच्छे जानकरी अपने ब्लॉग के माध्यम से दी जाये 

और आप इस post को अपने दोस्त के साथ पोस्ट को सोशल मीडिया पर शेयर करना न भूले 
और है आप comment में बताये की आपको ये post कैसे लगा |          
                             

Post a Comment

0 Comments