सिम कार्ड क्या है और इसे हिंदी में क्या कहते हैं?

  क्या आपको पता है  सिम कार्ड क्या है (What Is Sim Card In Hindi) इसके विषय में आज हम जानेंगे आप इसके बारे में सुने ही होंगे और इसे बहुत से लोग इस्तेमाल भी करते हैं फिर भी बहुत से लोग ऐसे हैं सिम का हिंदी नाम क्या है जिनको इसके बारे में पता नहीं होता है|

sim-card-kya-hai-hindi


Sim का full form होता है ''Subscriber Identity Module''  यह एक छोटा इलेक्ट्रॉनिक चिप  की तरह होता है  जब इसे मोबाइल में डालते हैं तो मोबाइल के सिस्टम से कनेक्ट हो जाता है और यह मोबाइल से नजदीक GSM  नेटवर्क को ढूंढता है यदि इसके ढूंढने पर जीएसएम नेटवर्क मिल जाता है तो उसे तुरंत ही कनेक्ट हो जाता है  ये GSM नेटवर्क मोबाइल के ट्रांसलेटर से सिग्नल भेजकर तुरंत ही connect होता है जब यह कनेक्ट होता है तो आप आसानी से किसी के पास कॉल कर सकते हैं आप चाहे तो कॉल को receive भी कर सकते हैं|


जब हम अपने मोबाइल से किसी के मोबाइल नंबर dail  करते हैं तो  वह अपने नजदीकी GSM Tower से हमारी फोन की पहचान होती है और हम जो अपने फोन में मोबाइल नंबर डायल किए हैं  उस information Satellite के मदद से उसको search करके उसे connect करने की मदद करता है तो आप इस प्रकार से किसी के पास कॉल कर सकते हैं तो आइए हम इसके बारे में और जानकारी बताने की कोशिश करता हूं|

Read More:- कंप्यूटर का आविष्कार कब हुआ

Read More:- गूगल प्ले स्टोर क्या है ?

सिम कार्ड क्या है? (What Is Sim Card In Hindi)

सिम कार्ड एक चिप की तरह होता है जो कि देखने में बहुत काफी छोटा होता है लेकिन इसके बगैर हम मोबाइल से किसी के पास कॉल और मैसेज नहीं कर सकते हैं  जब हम सिम कार्ड को अपने मोबाइल में डालते हैं तो वह जीएसएम नेटवर्क से कनेक्ट होता है तब हम किसी के पास कॉल कर सकते हैं|


 अगर हमारे मोबाइल में सिम कार्ड नहीं है तो वह सिर्फ एक डिब्बा है जिसे हम गेम खेलने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है इसलिए प्रत्येक मोबाइल में सिम कार्ड होना अति आवश्यक है sim card मेमोरी की आकार की जैसी होती है और सिम कार्ड प्लास्टिक के द्वारा बनाया जाता है जिसमें Antegrade चिप लगा होता है जिसका काम है सिर्फ मोबाइल को पढ़ना|


सिम के जितने भी कंपनी है Phone number,  personal data,  Unique Information होते हैं कि सभी प्रकार के नेटवर्क से सुनिश्चित किया होता है सिम कार्ड में थोड़ी बहुत space भी होता है जिसमें हम तकरीबन 256  से भी ज्यादा कॉन्टैक्ट save कर सकते हैं इसके अलावा हम इसमें मैसेज भी सेव करके रख सकते हैं|


SIM का Full-Form क्या होता है (sim card full form in Hindi) 

SIM का Full-Form होता है Subscriber Identity Module or Subscriber Identification Module


S-Subscriber


I-Identity


M-Module

Type Of Sim Card 

सिम दो प्रकार के होते हैं 

1.GSM: GSM यह सभी प्रकार के मोबाइल में इस्तेमाल किया जाता है किस समय में बहुत ज्यादा जीएसएम सिम का इस्तेमाल किया जाता है GSM का मतलब होता है Global System for Mobile Networks 1970 में बनाया गया था जीएसएम को बनाने वाले पहले व्यक्ति हैं Bell Laboratories  थे और यह 800,900 मेगाहर्ट्ज लेकर के 1.8 Ghz Frequency band  तक काम करती है यह सिम Narrow Band Transmission टेक्निक का उपयोग करता है जो कि यह Time Division Access Multiplexing का एक हिस्सा है इसमें डाटा ट्रांसफर करने के कैपेसिटी 16 Kbps से लेकर 120 Kbps तक होती है लेकिन टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करके इसका स्पीड कई गुना तक बढ़ा दिया गया है टेक्निकल टीम की कोशिश यही रहती है कि इसका स्पीड ज्यादा से ज्यादा हो |


CDMA:CDMA sim का कुछ नहीं मोबाइल में इसका उपयोग किया जाता है मोबाइल के साथ ही होता है इसमें सिम मोबाइल से बाहर नहीं निकाला जा सकता है क्योंकि इसमें sim फिक्स होता है और यह कंपनी के मोबाइल होते हैं|


जैसे कि आप जानते हैं कि रिलायंस की जो मोबाइल आता है उसमें  CDMA  लगा होता है  जिसे आप कभी भी बाहर नहीं निकाल सकते है और आप किसी अन्य मोबाइल में इसका इस्तेमाल नहीं कर सकते हैं क्योंकि मोबाइल में हमेशा के लिए फिक्स होता है|


हाल ही में Jio phone 1500  रुपए मैं लंच हुआ था तो आप उसमें देखे होंगे कि जियो का सिम पहले से ही लगा हुआ होता था जिसे आप किसी दूसरे मोबाइल में उस सिम का इस्तेमाल नहीं कर सकते थे ठीक उसी प्रकार यह काम करता है| 

Read More:- गूगल के मालिक कौन है?
Read More:-बल्ब का आविष्कार किसने किया

सिम का आविष्कार किसने किया?

सिम कार्ड का आविष्कार सबसे पहले 1991 इ मैं किया गया  जो कि यह कंपनी जर्मन के थी और इस कंपनी के नाम था Giesecke & Devrient और इस कंपनी के चेयरमैन क्वार्टर था जो कि यह कंपनी जर्मन के म्युनिक शहर में स्थित है|


Sim Card यूरोप देश में सबसे पहले लांच किया गया  और वहां पर GSM द्वारा सेवा प्रदान की गई और उस समय यूरोप में GSM  को लागू कर दिया गया| सन 1991 में डेविएन्ट सीम बनाया तो उस समय  sim card 300 नया गए थे डेविएन्ट  ने सिम बनाकर Finland के Wireless Network Operator Company Radiolinja नाम के कंपनी को बेच दिया 


सिम कार्ड के हिंदी में अर्थ होता है?

मोबाइल में लगाने वाले वह कार्ड जिसमें विशेष रूप से है नंबर होता है जिसके आधार से हम एक दूसरे से बातचीत करते हैं|


सिम का हिंदी नाम क्या है?

1.अधिग्रही सुचंकाक प्रारूप 

2.उपभोक्ता पहचान इकाई पत्ता

 सिम कार्ड के हिंदी में क्या कहते हैं इसका जवाब बहुत से लोग इंटरनेट पर ढूंढते हैं मैं भी काफी इसका जवाब ढूंढने की कोशिश की पर मुझे यह दो ही जवाब मिले अगर आप इन जवाब से संतुष्ट नहीं है तो हम एक कमेंट में इसका सही जवाब बताएं| 


आज आप क्या सीखे

 मुझे उम्मीद है कि आपको सिम कार्ड क्या है इसके बारे में पूरी जानकारी मिल गया होगा अगर आपको पूरे जानकारी मिल गया है तो हमें कमेंट में बताएं कि आपको पोस्ट कैसे लगा अगर फिर भी मेरे द्वारा लिखे गए हैं आर्टिकल में कोई भी गलती हो तो हमें कमेंट के माध्यम से आप सुधारवा सकते हैं|


मेरा हमेशा यही कोशिश रहेगी कि मैं अपने पाठकों के लिए अच्छे से अच्छे आर्टिकल शेयर करें ताकि उसको किसी वेबसाइट पर जाने की कोई आवश्यकता ना पड़े और आपको यहीं पर सारी जानकारी मिल जाए अगर आपके पास थोड़ा सा भी समय है तो आप हमारे पोस्ट को सोशल मीडिया पर शेयर कीजिए शेयर करने से आपके  मित्र और रिश्तेदारों को मदद हो जाए|


Post a Comment

0 Comments