मोबाइल का आविष्कार किसने किया और कब?


मोबाइल का आविष्कार किसने किया और कब? जैसा कि आप जानते हैं कि आज के समय में बहुत से लोग नशा करते हैं तो मैं आपकी जानकारी के लिए बता दूं कि की सबसे खतरनाक नशा मोबाइल को मैं मांगता हूं क्योंकि कोई भी इंसान भोले पान,सिगरेट,गुटका इत्यादि करें या ना करें लेकिन मोबाइल का नशा है उसके पास हमेशा ही रहता है|


 अगर उसके पास 1 मिनट के लिए मोबाइल नहीं रहे तो वह तुरंत पागल की तरह हो जाए आज के समय में बहुत से लोग मोबाइल के माध्यम से क्रिकेट ग्राफिक्स गेम इत्यादि खेलते हैं क्या जाना चाहते हैं कि मोबाइल का आविष्कार किसने किया जब तुम मोबाइल दोनों तरफ से अच्छा है नेगेटिव और पॉजिटिव आप इसको किस तरह से इस्तेमाल करना चाहते हैं वह तो सिर्फ आपके ऊपर निर्भर करता है|

mobile ka avishkar kisne kiya

अगर आपके पास मोबाइल है और  उसने अपना डाटा है तो आप घर बैठे दुनिया का तमाम खबरें मोबाइल पर प्राप्त कर सकते हैं यानी की देख सकते हैं और आप इस मोबाइल से घर बैठे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ बातचीत कर सकते हैं उसके पास घर बैठे हैं मैसेज भी सेंड कर सकते हैं और इस माध्यम से हम सोशल मीडिया पर भी जुड़ सकते हैं| 


मोबाइल फोन इंडस्ट्री बहुत काफी है तेजी से बढ़ रही आज के समय में बात की जाए तो हमें कौन कीमत नहीं अच्छी फीचर वाली मोबाइल मिल जाती है क्या आप जानते हैं की सबसे पहले दुनिया का मोबाइल फोन का कीमत ₹200000 लाखों रुपया से भी ज्यादा था और उस मोबाइल के बैटरी केवल 30 मिनट तक टिक पाते थी


स्मार्टफोन की वजह से आज के समय में बहुत से काम आसान तरीके से घर बैठे कर सकते हैं इस प्रकार के सुविधा 20 वर्ष पहले नहीं था स्मार्टफोन की वजह से कहीं भी और कभी भी समय देख सकते हैं और इसके अलावा पैसा पेमेंट कर सकते हैं स्मार्टफोन की मदद से| 


जैसे कि आपको जानते होंगे कि स्मार्टफोन पर बिताते हैं लेकिन क्या आप जानते हैं कि स्मार्टफोन की अविष्कार किसने और कब किया था और मोबाइल फोन का आविष्कार कब किया अगर आप नहीं जानते हैं तो इस आर्टिकल को लास्ट तक अवश्य पढ़े आपको सारी जानकारी इस article के माध्यम से मिल जाएगा|


मोबाइल क्या है?

मोबाइल एक ऐसा यंत्र है कि कोई भी व्यक्ति कितना भी दूर हो एक दूसरे से आसानी से बात कर सके यानी कि कोई भी व्यक्ति दुनिया के किसी भी कोने में हो वह घर बैठे आसानी से बात कर सकता हूं वह मोबाइल के माध्यम से वह दोनों व्यक्ति एक दूसरे के साथ जुड़ सकते हैं|


स्मार्टफोन की बात की जाए तो स्मार्टफोन कोई प्रकार की है टेलीफोन के आविष्कार छोटे आकार से बड़े आकार छोटे होने के कारण सोचने काफी  तकनीक को एक साथ पेश किया ‘Mobile‘ को जन्म दिया टेलीफोन की साइज छोटे हुए उस मोबाइल को लेकर ट्रैवल आसानी से कर सकते हैं| 


मोबाइल में टेलीफोन की तरह एक कम्युनिटी Device होता है जिसकी मदद से दो व्यक्ति किसी भी कोने में होगी एक दूसरे के साथ बातचीत कर सकता है  दो व्यक्ति से अधिक व्यक्ति वर्चुअली बातचीत कर सकते हैं| 


मोबाइल फोन एक ऐसा यंत्र है जो कि किसी प्रकार की आवाज को इलेक्ट्रॉनिक सिग्नल में कन्वर्ट करके जो केबल या इलेक्ट्रोमैग्नेटिक तरंग के माध्यम से दूसरे व्यक्ति के पास पहुंचती है तब जाकर के वह व्यक्ति सुन पाते हैं| 


मोबाइल का आविष्कार किसने किया और कब?

मोबाइल का आविष्कार मार्टिन कूपर ने किया था कपूर के आविष्कार ने पूरा दुनिया को बदल दिया आज के समय में हमारे उंगली  के इशारे से चलने वाले मोबाइल में बहुत सारे फीचर होता है जिसकी मदद से नाम कुछ भी कर सकते हैं|

mobile ka avishkar kisne kiya

 मोबाइल फोन स्तर तक पहचाने के पीछे लाखों इंजीनियर और वैज्ञानिकों का हाथ है लेकिन यह सब इसलिए संभावना था की एलेग्जेंडर ग्राहम बेल ने टेलीफोन का आविष्कार किया तो ही इसके  बाद वैज्ञानिक ने छोटे-छोटे यंत्र शुरू कर दिया टेलीफोन बनाने के बाद सबसे ज्यादा आतंकी पोर्टेबल बनाने की कोशिश की जा रही थी  इस क्षेत्र में कई सारे कंपनियां अपना कार्य कर रही थी लेकिन मोटरोला के इंजीनियर मार्टिन कपूर में पहली जीत हासिल की |


मार्टिन कपूर में 1970 में मोटरोला कंपनी में ज्वाइन किया और  इनका टेक्नोलॉजी में बहुत रूचि था और और मार्टिन कपूर का वायरल टेक्निक में काम करना शुरू कर दिया कुछ समय के बाद इन्होंने टेलीफोन का आविष्कार किया| 


दुनिया के सबसे पहले व्यक्ति जो कि फोन का आविष्कार किए हुए मार्टिन कपूर ही थे इस मोबाइल फोन का वजन 1.1  किलोग्राम था और इस फोन को एक बार चार्ज करने के बाद केवल 30 मिनट तक ही बैटरी का टिक पाती थीमोबाइल फोन को चार्जिंग होने में  10 घंटे लगते थे और उस समय इस मोबाइल की कीमत 2700 डॉलर अमेरिकन था और इंडिया करेंसी की बात की जाए तो ₹200000 से भी अधिक था 

कंप्यूटर का आविष्कार कब और किसने किया था?

माउस का आविष्कार किसने किया?

दुनिया का सबसे पहला फोन

दुनिया का सबसे पहला फोन का नाम Motorola DynaTAC था जो कि यह फ़ोन 9 इंच का था इस फोन का वजन 1.1किलोग्राम था मार्टिन कपूर ने टेलीफोन का आविष्कार के बाद मोबाइल कॉल इंडस्ट्री और  टेलीकॉम इंडस्ट्री पर काम शुरू होने लगा|


मार्टिन कपूर के द्वारा आविष्कार किया गया टेलीफोन का सुधार करने में 10 साल लग गया उसके बाद दुनिया का नेटवर्क अच्छा बनाने की कोशिश किया 10 साल बाद 1983 में मोटोरोला कंपनी ने इस फोन पर बाजार में उतार कर बेचना शुरू कर दिया और इस फोन के कीमत 3995 डॉलर था जोकि इंडियन करेंसी में इसका 200000 से भी ज्यादा  इसका कीमत था| 


दुनिया का सबसे पहला फोन का आविष्कार कब हुआ था?

दोस्तों आपको जानकारी के लिए मैं बता दूं की 1876 मैं अलेक्जेंडर ग्राहम बेल द्वारा दुनिया का सबसे टेलीफोन बनाया था उसके बाद Guglielmo Marconi ने 1890 वायरलेस का निर्माण किया इसके बाद इन दोनों के कार्य पर कोई सारा वैज्ञानिकों ने अपना काम शुरू किया |

Telephone का आविष्कार किसने किया?

मोबाइल का जन्म कब हुआ

दुनिया का सबसे पहला मोबाइल का जनरल 876 अलग जेंडर कर्मवीर के द्वारा किया गया था यह दुनिया का सबसे पहला टेलीफोन था उसके बाद मार्टिन कपूर ने 1976 को Motorola DynaTAC को एक मोबाइल फोन बनाया था|

भारत में पहली मोबाइल कॉल कब और किसने की थी?

भारत में सबसे पहले मोबाइल का क्या हुआ 31 जुलाई 1995 को पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री ज्योति बसु और केंद्रीय दूरसंचार मंत्री सुखराम को लगाया गया था इस कॉल को कोलकाता कि राइटर्स बिल्डिंग से दिल्ली के संचार भवन में कनेक्ट किया गया था|


दुनिया के पहले टेलीफोन सेवा कहां दी गई थी?

सबसे पहली मोबाइल सेवा 1926 में Deutsche Reichsbahn की फर्स्ट क्लास यात्रियों को प्रदान की गई थी जो की  Berlin और Hamburg रास्ते में सफर कर रहे थे|

निष्कर्ष:

मुझे उम्मीद है कि आप मोबाइल का आविष्कार किसने किया और कब? इसके बारे में पूरी तरह से जानकारी मिल चुकी होगी अगर आप इस जानकारी से संतुष्ट है हमारे आर्टिकल को सोशल मीडिया पर शेयर करना शेयर करने से आपके दोस्त और रिश्तेदारों को भी है इसलिए आप इस पोस्ट को सोशल मीडिया पर अवश्य करें


हमारा कोशिश यही रहता है कि मैं अपने पाठकों के लिए नियमित रूप से रोज जानकारी अपनी वेबसाइट पर प्रदान करें जिसके माध्यम से वह कुछ पढ़ते नया सीख सकेंफिर भी हमारे द्वारा लिखे गए आर्टिकल में कोई भी गलती हो तो आप हमें कमेंट के माध्यम से भी आर्टिकल को एडिट करवा सकते हैं| 


Post a Comment

2 Comments

  1. क्या आप लिखते हैं सर बहुत ही कमाल आपके आर्टिकल पढ़ने के बाद बहुत ही अच्छे से समझ में आ गया आप ऐसे ही लिखते रहे हैं सर

    ReplyDelete