कीबोर्ड का आविष्कार किसने किया और कब?

  क्या आप जानना चाहते हैं कि कीबोर्ड का आविष्कार किसने किया कंप्यूटर के लिए कीबोर्ड का कितना महत्वपूर्ण है आप तो जानते ही होंगे अगर आप नहीं जानते हैं तो आप इस आर्टिकल को पूरा पढ़ने के बाद समझ जाएंगे।


की कीबोर्ड के जरिए हम अपने कंप्यूटर को डाटा को फिड कर सकते हैं वैसे मैं आप जानते हैं की और Keyboard आविष्कार किसने और कब किया आप इस लेख के माध्यम से जान सकते हैं सबसे पहला लेखन डिवाइस 1700 दसक में तैयार किया गया था।

वाईफाई का आविष्कार किसने किया

ब्लूटूथ का आविष्कार किसने किया

और यह सबसे पहले 1714 में लंदन इंग्लैंड हेनरी मिल द्वारा इसका पेटेंट कराते गया। 1800 दशक में दुनिया के बहुत से लेखक टाइपराइटर डिवाइस का अविष्कार हुआ जिस का आविष्कारक अलग अलग है और अपने अपने काम में सफलता हो गए थे।


Keyboard क्या है?

कीबोर्ड इनपुट डिवाइस हैं इसका उपयोग मुख्य रूप से कंप्यूटर के कमांड, numerical data को इंटर किया जाता है Keyboard का हिंदी में कुंजीपटल कहते हैं कीबोर्ड में इस्तेमाल होने वाली बटन की मदद से कंप्यूटर को निर्देश भेजा जाता है यानी कि कीबोर्ड की मदद से हम कंप्यूटर में टेक्स्ट लिख सकते हैं।


यदि हम कंप्यूटर चलाते हैं तो देखते हैं कि कंप्यूटर में ढेर सारे टेक्स्ट को लिखा जाता है आज के समय में हर इंसान के महत्वपूर्ण जानकारी कंप्यूटर के साथ जुड़ा हुआ है चाहे कोई भी काम हो हर जगह कंप्यूटर का ही इस्तेमाल किया जाता है सरकारी ऑफिस हो या प्राइवेट ऑफिस या फिर कंप्यूटर शिक्षा क्षेत्र हो सभी जगह पर कंप्यूटर का इस्तेमाल किया ही जाता है उसके साथ साथ की बोर्ड का इस्तेमाल बहुत ही जरूरी है।


क्योंकि बिना कीबोर्ड का कंप्यूटर को कोई भी निर्देश नहीं भेजा जा सकता है अभी ना निर्देश का कंप्यूटर कोई भी कार्य नहीं कर पाएगा इसलिए कंप्यूटर में कीबोर्ड का एक महत्वपूर्ण part है।


Keyboard का आविष्कार कब और किसने किया

कीबोर्ड की अविष्कार Christopher Lathom Sholes ने किया था क्या जो कि अमेरिका के रहने वाले हैं इनको कीबोर्ड के जनक भी कहा जाता है इसके द्वारा किया गया टाइपराइटर में सभी बटन सीधे लाइन में होते हैं जैसे कि A,B,C,D,E के इसी क्रम में लिखते हैं।

keyboard ka avishkar kisne kiya

लेकिन इस तरह टाइपराइटर में बहुत सी गलतियां होती थी लिखने में, और टाइपराइटर में स्पीड बहुत ही कम होती थी क्योंकि सभी उंगली सही जगह पर नहीं पड़ती थी इस वजह से इस टाइपराइटर में बहुत से गलतियां हो जाती थी और टाइपराइटर में गलती होने पर फिर से एडिट करने के लिए Backspace नहीं होता था तो आप अंदाजा खुद ही लगा सकते हैं.


Christopher ने सभी कमियों को दूर करने के लिए key के नया रूप में व्यवस्थित किया जी से QWERTY Keyboard कहा जाता हैं क्योंकि इसमें QWERTY से शुरू होता है क्योंकि इसे इस्तेमाल करना बहुत ही आसान था क्योंकि इसमें स्पीड बहुत ही अच्छा था।

मोबाइल का आविष्कार किसने किया

Telephone का आविष्कार किसने

और इस टाइपराइटर में बहुत ही कम गलतियां होती थी और QWERTY Keyboard के लोगों ने बहुत ही पसंद किए इस वजह से यह कि वह बहुत ही पॉपुलर हो गया।


कीबोर्ड का फुल फॉर्म क्या है?

कीबोर्ड का फुल फॉर्म "Keys Electronic Yet Board Operating A to Z Response Directly" है।


K:- Keys

E: - Electronic

Y: - Yet

B: - Board

O:- Operating

A: - A to Z

R: - Response

D:- Directly


दोस्तों आप जान चुके होंगे कि कीवर्ड का फुल फॉर्म क्या होता है और मैंने आपको इसके बारे में पूरी जानकारी दिया हूं।


कीबोर्ड का दूसरा नाम क्या है?

कीबोर्ड के हिंदी भाषा में कुंजीपटल कहते हैं जो कि यह एक इनपुट युक्ति है जोकि टाइपराइटर के जी कुंजीपटल मैं कुछ आवश्यक परिवर्तन है कुंजीपटल में बहुत से कुंजियाँ बटन होते हैं जो कि हर बटन के अलग-अलग कार्य है।

बल्ब बल्ब का आविष्कार किसने किया 

माउस का आविष्कार किसने किया

कंप्यूटर के कीबोर्ड में कितने बटन होते है?

आपके जानकारी के लिए मैं बता दूं कि दुनिया के कई कंपनियों ने अपने अलग-अलग कीवर्ड का निर्माण किया है और उन सभी में अलग-अलग कीवर्ड की संख्या के बटन होती है अगर बात की जाए Standard Keyboard तो इसमें टोटल 104 बटन है।


जो कि मुख्य तौर पर इस कीबोर्ड का ऑफिस में इस्तेमाल किया जाता है और इसकी और को आम लोग भी इस्तेमाल करते हैं जहां तक से मैं भी इस कीबोर्ड का इस्तेमाल करता हूं

निष्कर्ष:-

मुझे उम्मीद है कि आपको कीबोर्ड का आविष्कार किसने किया और कब? इसके बारे में पूर्ण रूप से जानकारी मिल गया होगा फिर भी आपको इससे कोई भी जुड़ी सवाल है तो आप हमें कमेंट करके बता सकते हैं और मैं आपका कॉमेंट का इंतजार करूंगा


प्रिय पाठक अगर हमारे द्वारा लिखे गए कांटेक्ट में कोई भी गलती हो तो आप हमें कमेंट करके आप इस आर्टिकल को फिर से एडिट करवा सकते


अगर आपके पास थोड़ा सा भी समय है तो आप इस आर्टिकल को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर शेयर करना ना भूलें क्योंकि आर्टिकल  लिखने पर बहुत ज्यादा मेहनत करनी पड़ती हैं तो आप से यही अनुरोध है कि आप इस आर्टिकल को सोशल मीडिया पर फोरम पर शेयर करना ना भूले हैं।।

Post a Comment

1 Comments

  1. hum aapki site par ek guest post karna chahte hai, hamari site hai internetinhindi.in

    hame email kare internetinhindii@gmail.com

    ReplyDelete