घड़ी का आविष्कार किसने और कब किया

  घड़ी की खोज किसने किया? आज के समय में घड़ी से केवल हम लोगों समय ही नहीं बल्कि इसके द्वारा अपनी हेल्थ रिलेटेड ट्रेकिंग्स जैसे कि फूटस्टेप, हार्टबीट इत्यादि भी चेक कर सकते हैं घड़ी का शुरुआत को समय पहले ही हुआ था अरे आज के समय में बहुत तेजी से एडवांस होते ही जा रहा है। लेकिन आज के समय में केवल सादा ही घड़ी पहन कर समय देखने के लिए करते हैं और बहुत से लोग समय देखने के लिए मोबाइल का भी इस्तेमाल करते हैं।


क्योंकि यह दोनों चीज हमेशा हाथ जेब में रहता है दोस्तों आज के समय में बात की जाए तो हमारे पास न जाने कितने एडवांस वॉचेस और डिवाइस है जिसके द्वारा हम सटीक समय का पता लगा सकते हैं लेकिन कुछ साल पहले समय को पता लगाना इतना आसान नहीं था समय के पता लगाने के लिए सूरज के किरण के सहायता लेते थे अब और बहुत से लोग तारों की मदद से समय के पता लगाते थे।

ghadi-ka-avishkar-kisne-kiya

दोस्तों राजस्थान के राजधानी जयपुर में जंतर मंतर घड़ी है जिसके माध्यम से समय के पता लगाते हैं ग्रीस देश में पानी में चलने वाली गाड़ी हुआ करती थी जिसे गिरते हुए पानी के स्तर को डेट और समय के पता लगाया जाता था इस तरह के यंत्र से पानी में घंटी की आवाज सुनाई देती थी और सटीक समय के पता लगता था।


आज के समय में हम लोग गाड़ी के समय देखने के लिए इस्तेमाल करते हैं क्या आप कभी सोचे हैं कि आखिर घड़ी का आविष्कार किसने किया अगर नहीं तो आप इस आर्टिकल को पूरा अंत तक अवश्य पढ़ें क्योंकि इस आर्टिकल में आपको गाड़ी की खोज किसने की इसके बारे में पूर्ण रूप से जानकारी आपको हिंदी में दी जाएगी।

कागज का आविष्कार किसने किया

घड़ी क्या है? (What is watch)

घड़ी एक यंत्र है जिसके द्वारा हम सटीक समय के पता लगा सकते हैं दोस्तों घर के तो कई प्रकार है जैसे कि जल घड़ी,धूप घड़ी और इलेक्ट्रॉनिक घड़ी इत्यादि लेकिन हम लोग जिस घड़ी के नाम जानते हैं उसे "Wrist Watch" कलाई की घड़ी कहते हैं। इस गाड़ी को सभी लोग अपने हैंड में पहनते हैं।

लैपटॉप का आविष्कार किसने किया

दूरबीन का आविष्कार किसने किया

दोस्तों यह एक प्रकार की पोर्टेबल डिवाइज हैं जिस को संभालना कोई कठिन काम नहीं है आसानी से संभाल सकते हैं इस प्रकार के घड़ी को हम लोग हाथ में पहनते हैं बहुत से लोग इस घड़ी को अपने जेब में रखते हैं लेकिन आप से कुछ साल पहले वॉचेस का मार्केट में बहुत डिमांड था जिसके वजह से हर व्यक्ति वॉचेस पहनना काफी पसंद करते थे और जो व्यक्ति वॉचेस को अपने जेब में रखते थे वह व्यक्ति समय देखने के लिए अपनी जेब से घड़ी को निकालकर समय देकर फिर वही वापस रख देते थे।


Wrist Watch इस प्रकार की घड़ी बहुत काफी छोटी होती है जिसके चारों तरफ पट्टा लगा होता है जो कि कपड़े , मेटल और लेदर का होता है अगर यह घड़ी सिर्फ मेटल का होता तो इसमें मेटल कि कड़ियाँ बंधी होती है इस प्रकार की घड़ी देखने में काफी सुंदर और अच्छा लगता है जब कलाई पर पहनते हैं तो बेहद काफी खूबसूरत लगता है इसलिए इस प्रकार के घड़ी काफी लोग पसंद करते हैं।


इसलिए इस प्रकार की घड़ी हाथो पर बंधी रहती है. इस घड़ी का आविष्कार तब हुआ जब एक विद्वान ने सोचा की जेब में रखने की वजह से हैंड में बांधा जाए तो वह विद्वान ने उस समय अपनी धडी को एक रस्सी से अपनी कलाई पर बांध लिया तब उस विद्वान के कुछ मित्रों ने उसकी घड़ी कलाई पर देख कर बहुत मजाक उड़ाए लेकिन क्या उन लोगों का पता नहीं था कि यह एक प्रकार की नया अविष्कार है। और आज के समय में सभी लोग हाथ में घड़ी बांधना पसंद करते हैं।

घड़ी का आविष्कार किसने किया?

घड़ी का आविष्कार Peter Henlein ने किया था घड़ी के अविष्कार प्रमुख अविष्कारों में से एक माना जाता है वैसे तो स्मार्टवॉचेस और स्मार्टफोन मार्केट में आ गया है वैसे तो उतना ज्यादा लोग घड़ी का शौकीन नहीं है जितना पहले लोग घड़ी के शौकीन थे क्योंकि आज के समय में सबकुछ स्मार्टफोन में देखने को मिलेगा जो कि कभी भी और कहीं भी आसानी से समय देख सकते हैं।


अगर घड़ी के अविष्कार ना होता तो सही समय का पता लगाना नामुमकिन था और पूरी दुनिया जिस स्तर पर विकसित है इतना विकसित तो नहीं होती। घड़ी के आविष्कार के पूरा क्षेय किसी एक व्यक्ति को नहीं जाता, क्योंकि विश्व के सभ्यता एक दूसरे के साथ जुड़ी हुई नहीं थी इसलिए विद्वान ने समय देखने के लिए अलग-अलग तरीके अपनाया।


जैसे कि कुछ लोग ने जल घड़ी और कुछ ने घुआ घड़ी बनाया लेकिन आप इंटरनेट पर Who Invented Watch यानी कि घड़ी के आविष्कार किसने किया तो आपको Peter Henlein के वहां पर नाम दिखाई देगा Peter Henlein जिओ व्यक्ति है जो की घड़ी का पूरा खोज के क्षेय इसी को जाता है। पीटर हेनले वह व्यक्ति जो कि इन्होंने गाड़ी के अविष्कार किया पीटर हेनले द्वारा बनाया गया घड़ी के नाम "Clock Watch" दिया और यह घड़ी पूरा सटीक समय बताती थी।


Peter Henlein के द्वारा घड़ी के अविष्कार करने के बाद इसका और भी एडवांस किया गया जो कि देखने में काफी छोटी और अच्छी थी जो कि इसे लोग बहुत ही काफी पसंद करते थे। दोस्तों आपके मन में एक सवाल आता होगा कि जब भी तने गाड़ी का अविष्कार नहीं किया था तो समय का पता कैसे लगता था तो दोस्तों अब तो जानकारी के लिए बता दूं कि आप गलत सोच रहे हैं पहले भी इस समय पर पता लगाया जा सकता था सूरज के माध्यम से।


लेकिन सटीक समय जानने के लिए लोगों के पास साधन नहीं था वैसे तो समय के पता लगाने के लिए भारत में 5 जगहों पर जंतर मंतर का इस्तेमाल किया गया है सटीक समय दिखाने के लिए वह समय लोगों को पास यही मात्र यंत्र था

वाईफाई का आविष्कार किसने किया

ब्लूटूथ का आविष्कार किसने किया

द्वितीय घड़ी के आविष्कार का पुरा श्रेय पॉप सिल्वेस्टर को जाता है इन्होंने सन 996 को एक ऐसा यंत्र तैयार कर लिया जिससे सही समय और बताता था सन 1288 में इंग्लैंड के घंटाघरो में घड़ियां लगाने कि प्रक्रिया शुरुआत किया गया किया गया और घड़ी के जो Mint वाली सुई का आविष्कार स्विजरलैंड के जोश बरगी ने किया।


दोस्तों हाथ में पहने जाने वाली घड़ी का आविष्कार कैलकुलेटर अविष्कारक वैज्ञानिक ब्लेज पास्कल ने किया था इस वैज्ञानिक ने समय देखने के लिए अपनी घड़ी को रस्सी से हाथ में बांध लिया था जिससे उसको बार-बार जेब से निकालने की कोई आवश्यकता ना पड़े और अपना काम आसानी से कर सकते हैं इसलिए उन्होंने सोच कार्य कर लिया।


पेंडुलम घड़ी का आविष्कार किसने किया था

पेंडुलम घड़ी का आविष्कार 1656 में नीदरलैण्ड के Christian Huygens ने किया था.


घड़ी का आविष्कार कब और कैसे हुआ?

Peter Henlein के द्वारा घड़ी का आविष्कार करने से पहले भी लोग ऐसे यंत्रों का इस्तेमाल करते थे जो कि सटीक समय बताने के काम करता था. लेकिन पीटर इंग्लैंड में 1505 में lock watch का आविष्कार किया था. पीटर हेनले के lock watch के अविष्कार के बाद ही 1577 में स्विजरलैंड के जॉस बर्गी ने मिनट की सुई वाली घड़ी का आविष्कार किया.


अब इसके बाद paket watch का निर्माण किया गया और 1650 के आस-पास लोग अपनी जेबों में घड़ियां लेकर घूमा करते थे. और समय दिखाने के लिए अपने पॉकेट से घड़ी निकाल कर समय देते थे लेकिन ब्लेज पास्कल ने इस घड़ी को अपने हाथों पर रस्सी से बांधा कर वॉच की शुरुआत किया था. औरइसके बाद 1988 में Steve Mann ने पहली लिनक्स वॉच का आविष्कार किया ।

दुनिया के सबसे पहले घड़ी किसके कलाई में बांधी गई थी?

दुनिया के सबसे पहले कलाई घड़ी इंग्लैंड की महारानी एलिज़ाबेथ के लिए सन् 1571 में बनाई गई थी। और इस महारानी एलिज़ाबेथ को वह Clock Watch उनके मन पसंदीदा राजनेता रॉबर्ट डुडले द्वारा new year के तोहफे के रूप में दी गई थी।


घड़ी का इतिहास

पहले के लोग उस समय दिखाने के लिए सूरज के प्रकाश की मदद लेते थे और बहुत से लोग समय दिखाने के लिए तारों का भी इस्तेमाल करते थे अन्य देश में समय दिखाने के लिए पानी में चलती हुई गाड़ी को मदद से समय देखें जाते थे Peter Henlein नामक व्यक्ति ने घड़ी का 996 में आविष्कार किया।


उसके बाद Peter Henlein इंग्लैंड में 1505 में clock watch का आविष्कार किया था रिस्ट वॉच का आविष्कार करने वाले महान वैज्ञानिक ब्लेज पास्कल ने किया जो कि यह व्यक्ति कैलकुलेटर आविष्कारक थे।

निष्कर्ष

मुझे उम्मीद है कि आपको घड़ी का आविष्कार किसने किया इसके बारे में पूर्ण रूप से पता चल गया होगा अगर आपको इसके अलावा और भी सवाल है तो आप हमें कमेंट में बता सकते हैं मैं आपका सवाल की पूरी रिप्लाई देने की कोशिश करूंगा।


अगर हमारे द्वारा लिखे गए आर्टिकल में कहीं पर भी गलती हो तो आप हमें कॉमेंट के जरिए उस आर्टिकल को एडिट करवा सकते हैं।


दोस्तों अगर हमारे आर्टिकल आपको पसंद आया तो इस आर्टिकल को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर शेयर करना ना भूलें क्योंकि दोस्तों एक आर्टिकल लिखने में बहुत ज्यादा मेहनत करना पड़ता है इसलिए आपसे अनुरोध है कि आप इस आर्टिकल को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर अवश्य शेयर करें।

Post a Comment

0 Comments