लैपटॉप का आविष्कार किसने और कब किया

  इस पोस्ट में हम जानेंगे कि लैपटॉप का आविष्कार कब और किसने किया दोस्तों जैसे कि आप जानते हैं आज के समय में सभी काम तकनीक के द्वारा किया जाता है जिसमें से एक है हमारा लैपटॉप लैपटॉप के माध्यम से हम घर बैठे किसी भी काम को आसानी से ऑनलाइन कर सकते हैं तो आज के हमारा आर्टिकल रहेगा लैपटॉप के बारे में जो कि लैपटॉप के बारे में आप का पूर्ण रूप से इस आर्टिकल में हिंदी में जानकारी दी जाएगी

laptop-ka-aviskar-kisne-kiya

लैपटॉप के द्वारा कोई भी कार्य आसानी से घर बैठे कर सकते हैं चाहे कोई भी सरकारी संस्था,प्राइवेट संस्था या शिक्षा क्षेत्र हो वहां पर लैपटॉप के इस्तेमाल किया जाता है अगर आज के समय में कंप्यूटर या लैपटॉप के बारे में जानकारी नहीं है तो आप पहले इसके बारे में पूर्ण रूप से जानकारी प्राप्त करें क्योंकि शिक्षा के क्षेत्र में भी लैपटॉप का बहुत बड़ा योगदान बनने जा रहा है।


क्योंकि कोई भी कार्य लैपटॉप के माध्यम से किया जा रहा है खासकर शिक्षा के क्षेत्र में देखा जाए तो सभी स्टूडेंट्स को लैपटॉप या कंप्यूटर के द्वारा ही घर बैठे पढ़ाया जाता है अगर आप ऑनलाइन पढ़ाई करते हैं तो सबसे पहले लैपटॉप के ज्ञान होनी चाहिए क्योंकि हर स्टूडेंट की आवश्यकता लैपटॉप की होती है।


ऐसा इसलिए होता है कि कंप्यूटर से ज्यादा अच्छा लैपटॉप होता है क्योंकि हर स्टूडेंट को लैपटॉप काफी पसंद है लैपटॉप को एक जगह से दूसरी जगह आसानी से के साथ ले जा सकते हैं वहीं पर कंप्यूटर को एक जगह से दूसरे जगह नहीं ले जा सकते इसलिए स्टूडेंट की सबसे पहला पसंद लैपटॉप है। आवर लैपटॉप यूजर फ्रेंडली भी होता है पढ़ने के लिए अच्छा लैपटॉप ही है।


ऐसे में आपके मन में कभी ना कभी यह सवाल आया ही होगा कि लैपटॉप का आविष्कार किसने और कब किया बहुत से ऐसे लोग हैं जो कि लैपटॉप के रोज घंटों इस्तेमाल करते हैं लेकिन उसको यह पता नहीं है कि इसका आविष्कार किसने और कब किया मैं आपको यहां पर बताऊंगा किस का आविष्कार किसने और कब किया।


लैपटॉप क्या है?

लैपटॉप एक तकनीक है जिसे हम नोटबुक भी कहते हैं यह बैटरी से चलने वाला एक यंत्र है लैपटॉप की आकार बहुत ही काफी कंप्यूटर से छोटा होता है जोकि इसको कहीं भी ले जा सकते हैं इसको इस्तेमाल करने में कोई भी प्रॉब्लम नहीं है इसे आसानी के साथ इस्तेमाल कर सकते हैं और इसमें जो बैटरी लगी है वह बैटरी भी 2 से 3 घंटे तक चलती है तो लैपटॉप का इस्तेमाल आप कहीं भी और कभी भी कर सकते हैं।

मॉनिटर का आविष्कार किसने किया 

कीबोर्ड का आविष्कार किसने किया

लैपटॉप पर बैठे हैं किसी भी काम को कर सकते हैं लैपटॉप की मैक्सिमम वजन 3 किलो तक होती है और इसका मोटाई भी दो से 3 इंच तक होती है वैसे तो मैं आपके जानकारी के लिए बता दु के दिन प्रतिदिन लैपटॉप की आकार बहुत ही पतली होती जा रही है और इसका वजन भी कम होने लगी है ऐसा इसलिए कि जैसे-जैसे हमरा तकनीकी बढ़ती जा रही है ठीक उसी प्रकार से इसका वजन और मोटाई भी कम करते जा रहे हैं।


दोस्तों मैं आपकी जानकारी के लिए बता दूं कि लैपटॉप की कोई ऐसे Verity है जो कि मार्केट में आया है ASUS, IBM, Apple, Dell,Compaq,Toshiba, Acer आदि। यह लैपटॉप पूरी तरह से मार्केट में छा चुका है कोई भी व्यक्ति कंप्यूटर को छोड़कर लैपटॉप खरीदना पसंद करते हैं।


तो चलिए हम लैपटॉप के आविष्कार के बारे में जानते हैं कि आखिर लैपटॉप के आविष्कार के पीछे के कारण क्या है लैपटॉप एक कंप्यूटर का हिस्सा है जो कि सबसे पहले कंप्यूटर का आविष्कार किया गया था उसके बाद लैपटॉप का आविष्कार किया तो हम इसके बारे में परिपूर्ण रूप से जानते हैं।


लैपटॉप का आविष्कार किसने किया

लैपटॉप का आविष्कार ओसबोर्न के द्वारा 1981 में किया गया था आज के समय में लैपटॉप काफी ही बड़ा है लेकिन आने वाले समय में लैपटॉप इससे भी छोटा किया जाएगा जब लैपटॉप को मार्केट में उतारा गया था तो बहुत ही काफी धूम मचाने लगा क्योंकि इसमें कुछ सॉफ्टवेयर जो कि काफी स्क्रीन पर छोटे दिखते थे।


उस समय लैपटॉप के खरीदने वाले व्यक्ति लैपटॉप को 1795 डॉलर रुपया देकर खरीदते थे जैसे कि आज के समय में लग्जरी कार को बहुत शौक से रखते हैं उसी प्रकार लैपटॉप के पहले ऐसे ही लोग करते थे लेकिन आज के समय में बहुत से लोग लैपटॉप के इस्तेमाल करने लगे हैं।


जब लैपटॉप मार्केट में आया तो कंप्यूटर का डिमांड खत्म होने लगा क्योंकि लैपटॉप में हर प्रकार की सुविधा मौजूद है और कंप्यूटर में नहीं है लैपटॉप को एक जगह से दूसरी जगह ले जा सकते हैं लेकिन वहीं पर कंप्यूटर को एक जगह से दूसरे जगह नहीं ले जा सकते हैं इसी वजह से सभी व्यक्ति लैपटॉप के खरीदना स्टार्ट कर दिया है।


सन 1988 में IBM ने 5155 नाम एक का पर्सनल कंप्यूटर लॉन्च किया। उसके बाद Compass ने इसी क्रम में एक नया इनोवेशन लाया और वेगा 3 ग्राफिक्स के साथ कॉम्पैक SLT/286 नाम का लैपटॉप मार्केट में उतारा गया उसके बाद सभी कंपनी ने लैपटॉप को देखकर बनाना स्टार्ट कर दिया आवर लैपटॉप मार्क्स मार्केट में बहुत तेजी से फैलने लगा जिसे सभी लोग लैपटॉप को इस्तेमाल करने लगे।


लैपटॉप का फायदा

  • लैपटॉप पोर्टेबल डिवाइस इसे एक जगह से दूसरे जगह आसानी से ले जा सकते हैं।


  • लैपटॉप के बैटरी लाइफ बहुत अच्छी है, जिसके कारण इसे बिना बिजली के चला सकते हैं और वे भी लंबे समय तक इस्तेमाल किया जा सकता है। यह विशेष रूप से यात्रा के दौरान बहुत काम आता है। लैपटॉप के बैटरी मैक्सिमम 2 से 3 घंटे चलता है जिसे आप बहुत ही अच्छे से काम कर सकते हैं।


  • अगर हम लैपटॉप की तुलना कंप्यूटर से करे तो लैपटॉप की आकार बहुत ही छोटी होती है लेकिन कंप्यूटर की ही तरह काम करती है जो कंप्यूटर में काम करते हैं उसी प्रकार से लैपटॉप में भी काम कर सकते हैं। लैपटॉप के आकार छोटे होने के कारण इसे स्कूल,कॉलेज सरकारी संस्था,प्राइवेट संस्था कंपनी इसके अलावा अन्य कार्य में इस्तेमाल किया जाता है।


  • लैपटॉप में एक इनबिल्ट कीपैड होता है जिसमें आप माउस के रूप में इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए बाहरी माउस या कीबोर्ड की आवश्यकता नहीं होती है अगर आप लॉन्ग ड्राइव पर जाते हैं तो अगर आप बाहर में उसे या कीबोर्ड लगाना चाहते हैं तो इसमें लगा सकते हैं कोई बात नहीं।

मोबाइल का आविष्कार किसने किया

Telephone का आविष्कार किसने

  • इसमें आपको लाउडस्पीकर भी मिलेगा जिसके इस्तेमाल से आप मूवी ऑल सॉन्ग सुन सकते हैं आपको अलग से लाउडस्पीकर लगाने की कोई आवश्यकता नहीं आप लैपटॉप के ही माध्यम से सब कर सकते हैं।


लैपटॉप का नुकसान

  • लैपटॉप काफी महंगे होते हैं इस वजह से ज्यादातर व्यक्ति लैपटॉप नहीं खरीद पाते हैं वह कंप्यूटर ही खरीद लेते हैं।


  • लैपटॉप को कभी भी पानी से नहीं धोया जाता या उसके साथ धातु का इस्तेमाल भी नहीं किया जाता बहुत से लोग कपड़े को भिगोकर लैपटॉप को साफ करते हैं ऐसा बिल्कुल नहीं करना चाहिए


  • लैपटॉप का इस्तेमाल करने से अन्य प्रकार की बीमारी होती है जैसे की आंख की रोशनी पर असर पड़ता है शरीर के रीड पर असर पड़ता है यानी के अन्य तरह से शरीर में बीमारी फैलने की आशंका होती है।


  • अगर लैपटॉप खराब हो जाती है तो उस को रिपेयर कराने में काफी ज्यादा खर्च आती है और बहूत से परेशानियों का सामना करना पड़ता है।


  • लैपटॉप किया कार छोटी होने के कारण कोई भी व्यक्ति इसे आसानी से चुरा सकता है अगर आप लैपटॉप में अच्छी तरह से पासवर्ड डाल कर रखते हैं तो आप की लैपटॉप चुराने के बावजूद भी कोई व्यक्ति आपके इंपॉर्टेंट डॉक्यूमेंट या फाइल को ओपन नहीं कर सकता है।

  • लैपटॉप में मौजूद सभी सॉफ्टवेयर को अपडेट करना होता है क्योंकि इससे आपका लैपटॉप काफी तेज चलने लगता है इसलिए अपडेट करना काफी जरूरी है।

वाईफाई का आविष्कार किसने किया

ब्लूटूथ का आविष्कार किसने किया

लैपटॉप का इतिहास

सबसे पहला लैपटॉप का आविष्कार ओसबोर्न द्वारा जून 1981 में वेस्ट कोस्ट कंप्यूटर फेयर में किया गया था उस समय लैपटॉप की वजन 24 पाउंड था, 7 इंच की डिस्प्ले स्क्रीन के साथ बनाया गया था उस समय उपयोगकर्ताओं को विभिन्न प्रकार के उपयोगी सॉफ्टवेयर की पेश की। लैपटॉप को एक स्प्रेडशीट, वर्ड प्रोसेसिंग, प्रोग्रामिंग भाषाओं तक पहुंच और एक इंटरनेट data के साथ पेश किया गया था।


ओसबोर्न लैपटॉप के अविष्कार से रातों-रात सफल व्यक्ति बन गया उसको अन्य कंपनियों ने बहुत सारा ऑफर दिया लेकिन ओसबोर्न ने   

वह समय लैपटॉप का कीमत 1800$ रखे थे जो कि सभी विकल्पों से मिलता-जुलता था इसकी कीमत कंप्यूटर से भी आधा था लेकिन ओसबोर्न ने 1983 में $100000 से अधिक आर्डर प्राप्त किये।


निष्कर्ष

मुझे उम्मीद है कि आपको लैपटॉप का आविष्कार किसने किया इसके बारे में पूर्ण रूप से पता चल गया होगा अगर आपको इसके अलावा और भी सवाल है तो आप हमें कमेंट में बता सकते हैं मैं आपका सवाल की पूरी रिप्लाई देने की कोशिश करूंगा।


अगर हमारे द्वारा लिखे गए आर्टिकल में कहीं पर भी गलती हो तो आप हमें कॉमेंट के जरिए उस आर्टिकल को एडिट करवा सकते हैं।


दोस्तों अगर हमारे आर्टिकल आपको पसंद आया तो इस आर्टिकल को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर शेयर करना ना भूलें क्योंकि दोस्तों एक आर्टिकल लिखने में बहुत ज्यादा मेहनत करना पड़ता है इसलिए आपसे अनुरोध है कि आप इस आर्टिकल को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर अवश्य शेयर करें।

Post a Comment

0 Comments